झारखण्ड में 23 मार्च 2020 से अंतरजिला और अंतरराज्यीय बस परिचालन सेवा बंद है. केंद्र सरकार ने अनलॉक-1 से 3 में जो छूट दी हैं, उनमें झारखण्ड सरकार ने बस परिचालन पर पाबंदियां बरकार रखीं. बिहार में बस सेवा शुरू किए जाने के बाद झारखण्ड में भी बस परिचालन की मांग उठने लगी है. हालांकि परिवहन विभाग को झारखण्ड सरकार के निर्णय का इंतजार है. सितम्बर से अंतरजिला बस परिचालन की मंजूरी मिलने की संभावना है. झारखण्ड में बसों का रोड टैक्स माफ करने को लेकर भी प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. अधिकारियों का कहना है कि आपदा प्रबंधन के तहत बनी समिति की सिफारिश पर झारखण्ड सरकार 31अगस्त 2020 के बाद कोई निर्णय ले सकती है. उस निर्णय के आधार पर ही बसों का परिचालन निर्भर करता है.परिवहन विभाग के उच्चाधिकारियों ने बस परिचालन को लेकर विचार-विमर्श किया है.इसमें पहले केवल अंतरजिला बस सेवा ही शुरू करने की बात उभर कर सामने आई है. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अंतरराज्यीय बस सेवा पर अभी रोक बरकरार रखने का विचार है.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *